APJ-Abdul-Kalam Quotes

APJ Abdul Kalam Quotes in Hindi | एपीजे अब्दुल कलाम के अनमोल वचन

ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की जीवनी

अबुल पाकिर जैनुलाबदीन अब्दुल कलाम (ए.पी.जे. अब्दुल कलाम) का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम, तमिनलाडु राज्य के एक मुस्लिम परिवार में हुआ, उनके पिता का नाम जैनुलाबदीन और माता का नाम अशींमा जैनुलाबदीन है. उनके पिता एक नाव चालक और पास ही की स्थानिक मस्जिद के इमाम थे, उनकी माता अशींमा गृहिणी थी. उनके पिता जो रामेश्वरम आये तीर्थयात्रियो को एक छोर से दुसरे छोर पर छोड़ते थे.

कलाम का जन्म रामेश्वरम, तमिलनाडु में हुआ और वे वही बड़े भी हुए एवम भौतिक विज्ञानं और अन्तरिक्ष प्रोद्योगिकी अभियांत्रिकी में अपनी शिक्षा पूर्ण की. और उन्होंने अपने जीवन के 40 साल एक वैज्ञानिक और वैज्ञानिक प्रबंधक के रूप में Defence Research And Development Organisation (DRDO) और Indian Space Research Organisation (ISRO) में बिताये. और परिचित रूप से इंडियन सिविलियन स्पेस प्रोग्राम और मिलिट्री मिसाइल डेवलपमेंट में भी शामिल हुए. और Ofballistic मिसाइल और वाहन बनाने के तंत्रज्ञान में उनके सराहनीय कार्य करने हेतु उन्हें लोग भारत के “मिसाइल मैन” के नाम से भी जानते है. वे प्रधान संस्थाओ में भी शामिल है. और साथ ही तांत्रिक और राजनितिक रूप से 1998 के भारत के “पोखरण/नुक्लेअर” टेस्ट में भी उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. जो 1974 के बाद भारत का पहला नुक्लेअर टेस्ट था.

कलाम को सन 2002 में भारतीय जनता पार्टी और विरोधी भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस के सहयोग से भारत का 11 व राष्ट्रपति चुना गया.  वे 2002 से 2007 तक भारत के राष्ट्रपति रह चुके है.  जो अधिकतर “सामान्य लोगो के राष्ट्रपति” माने जाते थे, और कुछ बाद वे अपने सिविलियन जीवन और सामाजिक कार्यो में पूर्ण रूप से व्यस्त हो गये. वे कई सारे अवार्ड कर हकदार भी रह चुके है, उन्ही में से एक “भारत रत्न” भी उन्हें मिला है .

27 जुलाई 2015 को, कलाम “Creating A Livable Planet Earth” पर भाषण देने के लिए इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, शिलोंग गये.  7:45 P.M को अचानक हृदय विकार से उनकी मौत हो चुकी थी 30 जुलाई 2015 को, किसानो के राष्ट्रपति रामेश्वरम के पी करुम्बू मैदान पर पुरे विश्व के सम्मान के साथ मिटटी में ओझल हो गये.


 

हिंदी अनमोल विचार

सपना वह नही जोआप नींद में देखते है यह तो एक ऐसी चीज है जो आप को नींद ही नही आने देती !

सपना वह नही जो आप नींद में देखते है  यह तो एक ऐसी चीज है  जो आप को नींद ही नही आने देती !

इस देश केक्लास कि लास्ट बेंच पर मिल सकते है ! सबसे अच्छे दिमाग ...

इस देश के सबसे अच्छे दिमाग …  क्लास कि लास्ट बेंच पर मिल सकतें है !

एपीजे

भगवान, हमारे निर्माता ने हमारे मस्तिष्क और व्यक्तित्व में असीमित शक्तिया और क्षमताएँ दी है ।

भगवान कि प्रार्थना हमें इन शक्तियों को विकसित करने में मदद करती है !

इंसान को कठिनाइयों की आवश्यकता होती है क्योकि सफलता का आनदं उठाने के लिए ये जरुरी है ।

इंसान को कठिनाइयों की आवश्यकता होती है। क्योकि सफलता का आनदं उठाने के लिए ये जरुरी है !

Man Needs His Difficulties Because The Are Necessary To Enjoy Success !

इससे पहेले कि सपने सच हो आपको सपने देखने होंगे ! महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पुरे होते है

इससे पहेले कि सपने सच हो आपको सपने देखने होंगे ! महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पुरे होते है

आत्मविश्वास और कड़ी मेहनत, असफलता नामक बिमारी को मारने के लिए सबसे बढ़िया दवाई है। ये आपको एक सफल व्यक्ति बनाती है।

आत्मविश्वास और कड़ी मेहनत, असफलता नामक बिमारी को मारने के लिए सबसे बढ़िया दवाई है। ये आपको एक सफल व्यक्ति बनाती है।

जीवन में कठिनाइयाँ हमे बर्बाद करने नहीं आती है, बल्कि यह हमारी छुपी हुई सामर्थ्य और शक्तियों को बाहर निकलने में हमारी मदद करती है, कठिनाइयों को यह जान लेने दो की आप उससे भी ज्यादा कठिन हो।

जीवन में कठिनाइयाँ हमे बर्बाद करने नहीं आती है, बल्कि यह हमारी छुपी हुई सामर्थ्य और शक्तियों को बाहर निकलने में हमारी मदद करती है,

कठिनाइयों को यह जान लेने दो की आप उससे भी ज्यादा कठिन हो।

आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते पर आप अपनी आदते बदल सकते है और निश्चित रूप से आपकी आदते आपका फ्यूचर बदल देगी।

आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते पर आप अपनी आदते बदल सकते है और निश्चित रूप से आपकी आदते आपका फ्यूचर बदल देगी।

अपने जॉब से प्यार करो पर अपनी कम्पनी से प्यार मत करो क्योकि आप नहीं जानते की कब आपकी कम्पनी आपको प्यार करना बंद कर दे।

अपने जॉब से प्यार करो पर अपनी कम्पनी से प्यार मत करो क्योकि आप नहीं जानते की कब आपकी कम्पनी आपको प्यार करना बंद कर दे।

अपनी पहली सफलता के बाद विश्राम मत करो क्योकि अगर आप दूसरी बार में असफल हो गए तो बहुत से होंठ यह कहने के इंतज़ार में होंगे की आपकी पहली सफलता केवल एक तुक्का थी।

 अपनी पहली सफलता के बाद विश्राम मत करो क्योकि अगर आप दूसरी बार में असफल हो गए तो बहुत से होंठ यह कहने के इंतज़ार में होंगे की आपकी पहली सफलता केवल एक तुक्का थी।

शिखर तक चढ़ने के लिए ताक़त की ज़रूरत होती है फिर चाहे वह माउंट एवरेस्ट का शिखर हो या फिर आपके पेशे का शिखर हो Climbing to the top demands strength, whether it is to the top of Mount Everest or to the top of you

शिखर तक चढ़ने के लिए ताक़त की ज़रूरत होती है फिर चाहे वह माउंट एवरेस्ट का शिखर हो या फिर आपके पेशे का शिखर हो

Climbing to the top demands strength, whether it is to the top of Mount Everest or to the top of you